may14

रविवार, 16 दिसंबर 2012

advice for just married couple,in hindi...






नवविवाहितों के लिए जरुरी सलाह .....

दोस्तों ,कई दिनों से सोच रहा था ,की इस topic पर लिखूं या नहीं ? , असमंजस में था ! लेकिन पिछले दिनों एक केस ने मुझे इस topic पर लिखने के लिए प्रेरित किया !

पिछले दिनों एक young couple मेरे पास आया ! लड़का well educated , professional और लड़की भी post graduate थी ! लड़का 27 और लड़की 23 साल के थे ! दोनों ही एक बड़े शहर के रहने वाले थे ! और उनकी अभी 4-5 महीने पहले ही शादी हुई थी !
दोनों अपने वैवाहिक जीवन से खुश होते हुए भी संतुष्ट नहीं थे ! वो दोनों भले ही बहुत पढ़े -लिखे , modern थे ,लेकिन उनके बहुत सारे व्यक्तिगत सवाल थे जो शारीरिक संबंधों के बारे में उनकी अनभिज्ञता को बतला रहे थे !

वो आपस में संतुष्ट होना चाहते हुए भी संतुष्ट नहीं हो पा रहे थे   क्योंकि उनके आस-पास के लोग   (दोस्त,सहेली ....movies ?,books )उन्हें गलत और भ्रमित करने वाला ज्ञान दे रहे थे !

दोस्तों ,
आज का topic थोडा bold पर जरुरी है ,मेरी कोशिश रहेगी की शालीन शब्दों में अपनी बात आप तक पहुंचाऊं ! और जो just married couple हैं उनके संशयों और doubts को थोडा दूर कर सकूँ !

नई-नई शादी लड़का-लड़की के जीवन में एक अलग अहसास लाती है ! एक अलग ही रूमानियत ,उत्तेजना ,ख़ुशी ,थोडा डर ,झिझक और अपने साथी के शरीर और मन को जानने की उत्सुकता एक अलग ही रूमानी दुनिया का निर्माण करते हैं !
शादी के शुरू में अधिकतर जोड़े अपने साथी के रसायन और भूगोल को समझने में इतनी व्यग्रता से डूब जाते हैं की अधिकतर उस जोश में अपना होश भूल जाते हैं !

हमारे शास्त्रों में भी धर्म ,अर्थ,काम  और मोक्ष ये 4 पुरुषार्थ कहे गए हैं ! और मोक्ष के पहले काम (सेक्स) को स्थान दिया गया है !सही और मर्यादाओ में रहकर किया गया काम खुद आपके मोक्ष की सीढ़ी होता है !

हमारे भारतीय समाज में सेक्स को taboo माना जाता है ! कुछ लिहाज ,कुछ शर्म ,थोड़ी झिझक  कई कारणों से हम आपस में इसकी चर्चा नहीं करते हैं ! लेकिन फिर भी चोरी-छिपे अपने दोस्तों से ,सड़क छाप किताबों से movies और इन्टरनेट की कई sites से हम इसके बारे में जानकारी लेने का प्रयास करते   हैं !
हम जानना तो बहुत कुछ चाहते हैं पर पूछ नहीं पाते ! यह भी नहीं पता होता की पूछें किससे ? ऐसे में हम अपने दोस्तों या सहेलियों से अपनी query करते हैं जो की खुद हमारी तरह ही अनजान और उत्सुक हैं ,इस बारे में किसी से जानने के लिए !
तो ऐसे में फिर होता ये है की एक अँधा व्यक्ति दूसरे अंधे व्यक्ति से रास्ता पूछता है दूसरा पहले से पूछता है और फिर दोनों ही रास्ते से भटक जाते हैं ,है ना ?
अधिकतर ऐसा ही होता है !

मेरे पास जो couple आया था ,वो दोनों ही शारीरिक क्रिया कलापों में पूर्ण होते हुए भी असंतुष्ट और परेशान थे ! कारण था ,ऐसे में जो की अधिकतर होता है ,लड़के के दोस्त और लड़की की सहेलियां ,भाभीयां   जो ऐसे में किसी senior और expert से कम नजर नहीं आते हैं !
ज्यादा विस्तार के भय से संक्षेप में अपनी बात कहने की कोशिश करूँगा !

कुछ सलाह नवविवाहित couple के लिए ----

दोस्तों , 
कभी अपने दोस्तों ,सहेलियों की sex releted सलाह को ज्यादा seriously मत लीजिये ! अधिकतर उनकी ये सलाहें बड़ा चढ़ा कर कही गई होती हैं !
मेरे उस मरीज की पत्नी के मन में ये बात बेठ  गई थी ,जो की उसकी शादी शुदा सहेली ने कही थी की 'उसके पति ने पहले ही दिन ,माफ़ करना रात को उसे रात भर सोने ही नहीं दिया ,वगेरह-वगेरह .........

दोस्तों ,एक साफ़ बात --- बंद कमरे का अफसाना ,किसने जाना ?? है ना ? 
सिर्फ इस बात से वो  लड़की अपने पति के साथ सहज सम्बन्ध होते हुए भी मानसिक रूप से सहज नहीं हो पाती है क्योंकि उसके मन में ये धारणा बन गई है  की --- सम्बन्ध वही ,जो रात भर चले ....!
जबकि हम सब जानते हैं की ये सही और व्यावहारिक नहीं है !

आपकी शादी की रात आपके दोस्त वगेरह अपने आप को expert जतलाने ,अपनी मर्दानगी ?? की कहानियां सुनाने या अपना लोहा मनवाने के लिए जरुरत से ज्यादा बड़ा-चढ़ा कर उनके खुद के किस्से सुनाते हैं !  जो की नए नए जोड़े को और मानसिक रूप से घबरा देते हैं !  इसलिए दोस्तों की सलाह दोस्तों तक !

खाना खाने से आपका पेट भरा या नहीं ,ये कोई दूसरा आपको नहीं बताएगा ,आप स्वयं ही महसूस कर लेंगे ,है ना ?
तो फिर आपके संबंधों से हुयी अनुभूति ,तृप्ति का अनुभव खुद अपने मन और शरीरों को ही करने दीजिये ! किसी दुसरे की राय की हड्डी को ऐसे रूमानी समय में ,अपने बीच में मत लाइये !

उस कपल ने शादी के 4 महीनों में ही पति ने पत्नी को 2-3 बार emergency pills खिला  दी थीं ,अनचाहे गर्भ के डर से !
दोस्तों ,यहाँ में एक बात साफ़ तोर पर आपको कह देना चाहता हूँ की आप जोश में कभी होश मत खोइएगा ! जाहिर है नया जोड़ा कुछ ,महीनो या सालों अकेले रहना चाहता है ! एक दुसरे को पूरी तरह समझना चाहता है ! फ्री रहना चाहता है ! ऐसे में बच्चा उसे किसी अनचाही जिम्मेदारी से कम नहीं लगता !

लेकिन पूरी सावधानी रखने पर भी कभी कभी देवयोग से ऐसा होता है की पत्नी की date (menses ) नहीं आती है ! फिर दोनों tension में आ जाते हैं ! घर वालों को पता चले उसके पहले ही कोशिश होती है की तुरंत menses कैसे भी आ जाए ,वरना घर वालों को अगर पता चल गया तो पोते -पोती की ख़ुशी में वो इसे carry करने को कहेंगे ! फिर हमारी आजादी में खलल पड जाएगा ! है ना ?
ऐसे बहुत सारे case देखे हैं ,जिसमे शुरू में couple बार बार रुकने वाले  अनचाहे गर्भ से छुटकारा पाना चाहता है ! फिर कुछ समय बाद जब "काम ज्वर" का खुमार कम होता है तब वो बच्चा पैदा करना चाहता है ! लेकिन तब उन्हें पता पड़ता है की किसी  complication की वजह से गर्भ नहीं ठहर पा रहा है ,या बच्चा नहीं हो पा रहा है ! फिर शुरू होते हैं infertility centers के चक्कर ,है ना ?

एक शेर मुझे याद आ रहा है -----
कुछ ऐसे भी मंजर हैं ,तारीख की नजरो में ,
लम्हों ने खता की थी ,सदियों ने सजा पायी !

आप समझ गए होंगे ,जो मै कहना चाह रहा हूँ ! अपने 2 minute के मजे के लिए अपने भविष्य को दाँव पर मत लगाइए !

वैसे भी शादी का मुख्य मकसद है  अपना कुलदीपक (लड़का /लड़की दोनों ) पैदा करना ! किसी भी लड़की की सम्पूर्णता तो माँ बनने में ही होती है !
sex क्रिया का main product तो child ही होता है , pleasure  या enjoyment तो by -product होता है !

एक बात और दोस्तों ,कभी किसी sex video ,या net video से बहुत प्रभावित मत होईये ! क्योंकि picture और यथार्थ में बहुत अंतर होता है !  फिर वो चाहे action movie हो या adult और porn movie .

रजनीकांत को robot movie सिर्फ एक movie  ही है ,यथार्थ में ऐसा होना संभव नहीं है , है  ना ??
इसलिए adult और porn movie को या किताबी ज्ञान को अपने संबंधों की कसोटी मत बनाइये ,वो यथार्थ नहीं है ! यथार्थ तो वो है ,जो आपके सामने है --आपका साथी ,उसका साथ ,है ना ??
दोस्तों बहुत सारी  बातें दिमाग में आ रही हैं ,आपके साथ बांटने के लिए ! पर चूंकि लेख लम्बा हो रहा है ,इसलिए आज इतना ही .......

एक निवेदन ---- मैंने यह एक प्रयास किया है ! अगर आपको लगता है ,की इससे आपको कुछ मदद मिलेगी या कहीं  न कहीं ये आपके साथी के साथ आपके संबंधों में सहायक होगा ! तो शालीन शब्दों में बताइयेगा जरूर !
मुझे आपके comments का इन्तजार रहेगा !

डॉ नीरज यादव 
MD(ayurveda)

                --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------









3 टिप्‍पणियां:

  1. GREAT JOB DOCTOR SAHAB
    AS I M RECENTLY MARRIED, IT IS VERY HELPFULL IN PREVENTING ANY TYPE OF CONFUSSION CREATED BY OTHERS.
    GOOD JOB AS U TRIED TO FOCUS ON THAT SUBJECT WHICH WE HESITATA TO DISCUSS IN PUBLIC

    उत्तर देंहटाएं
  2. असमंजस नहीं भाई किसी न किसी को तो ये सामाजिक बीड़ा उठाना ही होगा। ओर आयुर्वेद विद होने के नाते आपसे सही व्यक्ति ओर कौन हो सकता है।

    उत्तर देंहटाएं

दोस्त, आपके अमूल्य comment के लिए आपका शुक्रिया ,आपकी राय मेरे लिए मायने रखती है !