may14

गुरुवार, 11 अक्टूबर 2012

खाना खाइये ,मोटापा घटाइये ........




          खाना खाइये ,मोटापा घटाइये ........

दोस्तों , 

कई मोटे मरीज मेरे पास आते हैं , जिन्होंने अपने मोटापे की वजह से खाना कम कर दिया है !  या सिर्फ एक समय ही खाना खाते हैं   दूसरे  समय कुछ भी नहीं !  या जो dieting  पर हैं !  लेकिन फिर भी उनका मोटापा कम होने की जगह बढता ही जा रहा है !  ऐसे लोगों मे  से कहीं आप भी तो नहीं ?  अगर हाँ ,तो ये artical शायद  आप के काम आये ! 

इस topic  पर चर्चा करने से पहले कुछ बातें अपने शारीर के बारे मे  हम कर लें ,ठीक है !

 हमारा शरीर एक बड़े यन्त्र या मशीन की तरह है ,  वो मशीन जो लगातार बिना रुके  24 घंटे सातों दिन काम करती रहती है !
अब आप कहेंगे  की हम लगातार काम कहाँ करते हैं ?  रात मे सोते  भी हैं ,  दिन में झपकी भी लेते हैं , फिर लगातार काम कहाँ हुआ ?  है ना ?

दोस्तों , सोते आप हैं , आपका हृदय ,आपके lungs ,आपका digestive  system ,  आपका blood circulatory system ये सारे system अनवरत अपना कार्य करते रहते हैं !  जब आप गहरी नींद में होते हैं  तब भी दिल का धडकना , खून का सारे शारीर में घूमना , सांस का आना -जाना ,  खाने का पचना  इत्यादि काम अनवरत होते रहते हैं !  जिनकी बदोलत आप स्वस्थ और जिन्दा रहते हैं !

किसी भी मशीन या गाडी को चलने के लिए उर्जा (energy ) की आवश्यकता होती है फिर वो उर्जा चाहे बिजली हो ,petrol हो या desal  !
उसी तरह आपके शारीर की उपरोक्त क्रियाओं को सतत चलाने  के लिए भी शक्ति की आवश्यकता होती है ,जो आपके शरीर को खाए गए खाने से मिलती है !
        आप जो खाना खाते हैं ,उसके पचने से शक्ति उत्पन्न होती है ,जो शरीर को चलाने में काम आती है !  शक्ति के आमद -खर्च का ये सिलसिला निर्बाध रूप से चलता रहता है !

जो energy आपके खाने से बनती है उसमे से कुछ तो तुरंत काम आ जाती है और कुछ भविष्य के लिए संगृहीत हो जाती है !   जिस प्रकार बैंक में current account  और saving  account  होते हैं ! शरीर की ये जो saving  energy  है ये चर्बी (fat ) के रूप में आपके शरीर में जमा होती है ! 

आपने पढ़ा या देखा होगा की कुछ लोग रेगिस्तान या समुद्र में  कई दिनों तक फँस जाते हैं ,भटक जाते हैं ,उनके पास कुछ भी खाने -पीने को नहीं होता है ,फिर भी वो लोग कुछ दिनों तक अपने आप को बिना कुछ खाए हुए भी जिन्दा रख पाते हैं !  है ना ?
ऐसे आपातकाल के लिए शरीर fat  के रूप में energy को save  रखता है !

जो लोग नियम से सुबह शाम खाना खाते हैं उनकी energy  के आमद खर्च का तारतम्य बना रहता है !और शरीर सहज रूप से उस energy  को खर्च कर लेता है !

दोस्तों ,परेशानी (मोटापा) ,तब शुरू होती है जब आप मोटापे के चक्कर में एक समय का खाना बंद कर देते हैं ,या खाना कम कर देते हैं ,या dieting करने लग जाते हैं !   इससे होता यह है की energy  के आमद खर्च का जो गणित था वो गड़बड़ा जाता है !
आप चाहे खाना खाएं या ना खाएं आपके शरीर को तो energy  चाहिये  ही अपने आपको चलाने  के लिए ! 
जब आपके शरीर को ये लगने लगता है कि  ये आदमी तो मुझे समय से उर्जा नहीं दे रहा है ,जितनी जरूरत है उतनी नहीं दे रहा है ,और जब चाहिए तब नहीं दे रहा है  तब शरीर का आपात तंत्र सक्रिय हो जाता है !

दोस्तों ,आपने देखा होगा की बाजार में किसी चीज की कमी होने पर हर  आदमी उसे जरूरत से ज्यादा खरीद कर अपने घर  में इकठ्ठा कर लेता है ताकि उसकी उपलब्धता बनी रहे ,उसे वो चीज समय से मिलती रहे ,है ना ?

उसी तरह जब आप शरीर को सही समय पर  और पूरा खाना नहीं देते हैं तो वो भी आपातकाल की तरह energy  को reserve कर लेता है !  उर्जा को शरीर में storage  कर लेता है !  और ये storage  fat  के रूप में  आपके शरीर में जमा होता है !

फिर होता ये है की आप जितना कम खाते हैं उतनी ही fat (मोटापा ) बढ़ने लगता है ! आप समझ ही नहीं पाते की कम खाते हुए भी मोटापा क्यों बढ़ रहा है ! है ना ?
जब आपने शरीर का current account   कम कर दिया है तो वो saving  account  तो बढाएगा  ही ! 

दूसरी बात जब आप एक समय ही खाते  हैं तो जाहिर है भूख से थोडा ज्यादा ही खाने में आता है , क्योंकि पेट को पता है की शाम को तो खाना मिलेगा नहीं  इसलिए वो आपको 2 चपाती ज्यादा ही खिला देता है ! 

फिर धीरे धीरे आपके शरीर में fat  जमा होने लगती है ! fat  सबसे पहले आपके पेट पर ,फिर स्तन प्रदेश में, कुल्हे पर तथा जाँघों पर जमा होने लगती है !
फिर आपको लगता है की कम खा कर भी मोटा तो हो ही रहा हूँ ,      तो क्यों ना ???

फिर आप जरुरत से ज्यादा खाने लगते हैं ,जब चाहे तब खाने लगते हैं ! जीवन में ये चक्र चलता ही रहता है और आपका मोटापा वहीं  का वहीं  ! है ना ?

कुछ अनमोल सूत्र , अगर आप मोटापा वाकई में कम करना चाहते  हैं तो ----

  • खाना नियम से दोनों समय खाएं !
  • खाना भूख से कम खाएं ! पेट के 2 भाग अन्न से भरें ,1 भाग पानी और 1 भाग हवा के लिए रखें !   कुकर को चावल से पूरा भर देंगे तो वो पकेंगे कैसे ?
  • दिन भर ही ना खाते रहे !
  • खाने के तुरंत बाद बहुत पानी ना पियें !
  • खाते ही दिन में  ना सोयें !
  •  योग ,व्यायाम ,टहलना ,परिश्रम भी करें !
  • सबसे ख़ास अपने शरीर को आपातकाल जैसी परिस्थिति का सामना न कराएं जिससे की वो घबरा कर energy  का जरुरत से ज्यादा संचय fat  के रूप में शरीर में ना कर ले !

            ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
आपके comments  के माध्यम से ये बताईएगा  की ये लेख आपको कैसा लगा ,और आपके लिए कितना लाभप्रद रहा !

                        -----------------------------------------------------------------------------------

24 टिप्‍पणियां:

  1. Sahi kaha aapne sir, main ab puri koshish karunga, jo aapne kaha hai use maanne ki.

    प्रत्‍युत्तर देंहटाएं
  2. कोशिशें ही कामयाब होती हैं ! आपको कोशिश के लिए शुभ कामनाएं .......

    प्रत्‍युत्तर देंहटाएं
  3. ap ne jo kaha hi wo sahi pahle mai sochta tha ki mai km khauga to motapa km ho jayega lekin yesa kuch nahi ho raha tha mai or bhi mota hote ja raha tha lekin jb se mai niymit bhojn krne laga hu to kuch fark pd raha hi .....thx batane ke liye mai ap ki bato ko manne ki puri kosis krunga...

    प्रत्‍युत्तर देंहटाएं
  4. maih aaj se hi ya sab baato par dhayan dhuga or dekhuga ki motapa kam hota hai ya nahi . OK Sir

    प्रत्‍युत्तर देंहटाएं
  5. khana kha kar mota hone ki baat to sabhi karte hai kha kar vajan ghatane ki baat nai hai aapki tips ko follow karne ka prayas karenge

    प्रत्‍युत्तर देंहटाएं
  6. Sahi kaha sir apne apne itne saral bhasha me likha hai sab kuch samjh aa gaya apke baton ko jarur follow karungi. Thanx!

    प्रत्‍युत्तर देंहटाएं
  7. sir you are saying mai bhi ek time khana kha rha hu fir bhi motapa bad rha hai apka ye lekh padne ke bad ab mai niyamit khana khaunga.
    thanks

    प्रत्‍युत्तर देंहटाएं
  8. Aap ne shi kha meri v yhi prb. H bt mera opration hua h pet ka is bjh se bo loose ho gya h nd avi meri age 22 h or mera opration 12 sal ki age me hua tha bs ab moti hi hoti ja rai hu or mene v yhi kia tha ek tim khana or fir v motapa km na hua to or khane lgi bt ap muje plc btaiy ki me apna loose pet opration ka or motapa kese shi ho plc plc muje btay jld se jld me kese shi kru

    प्रत्‍युत्तर देंहटाएं
  9. Mere kamar ke baju mai bilohat fat jama hute hai unhekaise kam kare.plz solution.

    प्रत्‍युत्तर देंहटाएं
  10. उत्तर
    1. असगर जी ,
      1000 मील कि शुरुआत भी पहला कदम उठाने से ही होती है ! लेकिन ये पहला कदम उठाना ही सबसे मुश्किल होता है !
      मन में ठान लीजिये ,एक साफ़ target बनाइये ! प्लान बनाइये ! अपने local dr. कि सलाह से exercise और diet plan कीजिये !
      और सबसे बड़ी बात दूसरे सलाह दे सकते हैं ,करना तो खुद को ही पड़ता है ,है ना ?
      आप चाहें ,तो motivational articles भी पढ़ सकते हैं !

      हटाएं
  11. Respected sir/madam

    Mera weight 50kg tha aur meri age 22 he mujhe apne aap me motapa sa mehsus hota tha . to mene dopehr ka lunch band kar diya .....per kuch hi dino me meri body ki vains me pain hone laga aur mere pero me bhi bhot jada dard rehne laga ..........kya ye sab lunch band karne ki wajhe se hua...............please reply

    प्रत्‍युत्तर देंहटाएं
  12. meri puri body mei sirf tami hi extra h muje office mei pure din bethna padta h jiske karan mera khana nahi pach pata or raat ko thakan k karan mei ghar jake khana khake so jati hu aap bataye mei kya karu

    प्रत्‍युत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. sanjiv ji ,
      कोशिश,
      कोशिश कीजिये आप थोड़ी exercise करने की, थोड़ा walk करने की ,सही diet लीजिये ,हम कितनी भी जल्दी में हों पर अपनी गाडी में petrol भरवाना नहीं भूलते ,हम कितने भी busy हों थोड़ा समय तो अपने लिए निकाल ही सकते हैं ,मेरा ये article शायद आपके लिए useful हो। http://achhibatein.blogspot.in/2012/10/your-health-your-choice-in-hindi.html

      हटाएं
  13. shankar lal jamuniya15 मई 2014 को 4:00 pm

    bate bahut achchi likhi hai me ise jarur apnaunga

    प्रत्‍युत्तर देंहटाएं
  14. Sir ,You are amazing. Hats off to you .I'll definitely follow your instructions.

    प्रत्‍युत्तर देंहटाएं
  15. aap ki bat sach mai sahi h par muje visavas nhi hora ha sorry

    प्रत्‍युत्तर देंहटाएं

दोस्त, आपके अमूल्य comment के लिए आपका शुक्रिया ,आपकी राय मेरे लिए मायने रखती है !

kinu1

ad1